28 जन॰ 2017

loading...

प्राकृतिक तरीके से करें नींद में बोलने की बीमारी का इलाज


प्राकृतिक तरीके से करें नींद में बोलने की बीमारी का इलाज

नींद में बोलने की आदत से बचने के लिए पर्याप्त आराम ज़रूरी होता है। इसके लिए आपकी नींद अच्छी तरह पूरी होनी चाहिए अगर हो सके तो आपको दिन के वक़्त भी बिना किसी व्यवधान के कुछ समय की नींद लेना चाहिए।

अगर आप लगातार तनाव से गुजर रहें हैं तो आपको यह समस्या हो सकती है। इसके लिए अपने दिमाग को पर्याप्त आराम का मौका दें और खुद भी रिलैक्स करें। अगर ऑफिस के कामों से आप खुद को बहुत उलझा हुआ महसूस कर रहे हैं तो कुछ दिनों के लिए काम से छुट्टी ले लें। या कहीं घूमने जाएँ, इससे आपके दिमाग को भी काफी आराम मिलेगा। इससे आपका तनाव कम होता है।

अगर आप अकेले हैं तो अपने किसी दोस्त या करीबी से मिलने जाएँ और उनसे बातें करें। अपनी बातें उनके साथ शेयर करें इससे आपके मन की बातें खुलकर बाहर आएंगी और आपका मन भी हल्का होगा तथा अप बेहतर महसूस करेंगे। इससे आपका अकेलापन भी दूर हो जाएगा।

कई बार बहुत ज़्यादा कैफीन के सेवन से भी नींद में बोलने की समस्या होती है। इसके इलाज के लिए कैफीन की मात्रा कम करें। ज़्यादा चाय या कॉफी के सेवन से बचें। 
loading...