27 फ़र॰ 2017

loading...

सेक्स के समय ब्लड प्रेशर, Sex-time blood pressure


परिचय
आजकल की रोजाना की दिनचर्या में ब्लडप्रेशर (रक्तचाप) की बात होना एक आम बात हो गई है। ब्लडप्रेशर के कारण संभोग शक्ति में भी काफी कमजोरी आ जाती है। ह्रदय से धमनियों के द्वारा हर समय रक्त संचार होता रहता है। एक सही व स्वस्थ व्यक्ति का उच्च रक्तचाप 100 से 140 तथा निम्न रक्तचाप 60 से 90 के बीच में होना चाहिए।

दिमागी परेशानी, अधिक गुस्सा, दुख, अधिक मेहनत न करना तथा अधिक तेल-चटपटे मसालेदार चीजों का अधिक मात्रा में इस्तेमाल करने से भी ब्लड प्रेशर के रोग की शिकायत हो जाती है। तथा इसके विपरीत शराब, तंबाकू या ध्रूमपान आदि का ज्यादा सेवन किया जाता है तो ब्लड प्रेशर की समस्या ओर अधिक मात्रा में बढ सकती है। एक खोज से पता चला है कि ब्लड प्रेशर की वजह से संभोग करने में रुचि न होना, बहुत जल्द वीर्य पतन तथा नपुंसकता (नामर्दी) भी हो सकता है। ब्लड प्रेशर की शिकायत बहुत लंबे समय तक होने तक दिल का दौरा भी पड़ सकता है।

सेक्स के समय ब्लड प्रेशर-
ब्लडप्रेशर हर समय एक समान नहीं रह सकता है। दिमागी परेशानी, अधिक गुस्सा करने, भयभीत रहने एंव कठिन परिश्रम करने से भी ब्लड प्रेशर कुछ-कुछ बढ़ जाता है। संभोग करते समय शरीर के खून की गति में तेजी से संचार होता रहता है। सेक्स करते समय ह्रदय की गति 70-80 से बढ़कर 100-120 तक पहुंच जाती है लेकिन चरम सीमा तक पहुंचते-पहुंचते 130-160 के आसपास पहुंच जाती है। संभोग करते समय सेक्स करने वाली स्त्री को भी ज्यादा से ज्यादा खून की आवश्यकता होती है। इसलिए ह्रदय की गति और ब्लड प्रेशर भी बहुत अधिक बढ़ जाता है।

ब्लडप्रेशर पर नियंत्रण
ब्लडप्रेशर के रोगी को कई प्रकार से सेक्स की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। उच्च रक्तचाप से पीड़ित लंबे समय से रोगी को संभोग करने में मन न लगना, वीर्य का जल्दी गिरना तथा नामर्दी की समस्या दिखाई देने लगती है। उच्च रक्तचाप के वेग को रोकने के लिए मरीज को अपने पूरे दिन की देख-रेख तथा खाने-पीने के बारे में बदलाव करना बहुत ही आवश्यक है। उच्च रक्तचाप का रोगी जब संभोग करता है तो उसका उच्च रक्तचाप बहुत अधिक मात्रा में हो जाता है। इस वजह से उसे ह्रदय का रोग, एंजाइना या लकवा होने की शिकायत हो सकती है।

अगर उच्च रक्तचाप का रोगी बीड़ी-सिगरेट, शराब तथा पान-तंबाकू का इस्तेमाल बहुत अधिक करता है तो उसे ये सभी पदार्थ तुरंत ही बंद कर देने चाहिए। उन्हें हमेशा तरल पदार्थ ही लेने चाहिए। वसा एवं चर्बी युक्त खाने का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। नमक का इस्तेमाल खाने में बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। जरुरत के अनुसार योग और आसन करना चाहिए। उच्च रक्तचाप के लोग जिन दवाईयों का प्रयोग करते है वह दवाईयां भी सेक्स शक्ति को नुकसान पहुचा सकती है। इस बात का अवश्य ध्यान रखना चाहिए।

ब्लड प्रेशर की औषधिः

उच्च रक्तचाप को सही करने के लिए जो दवाईयां प्रयोग की जाती है वे सेक्स पावर को प्रभावित करती है। इटली के आविष्कारक के अनुसार उच्च रक्तचाप को कंट्रोल में करने के लिए प्रयोग में लाने वाली औषधि एटेनोलोल एंव लिसिनोप्रिल के इस्तेमाल करने से पुरुषों की सेक्स शक्ति और शरीर में बहुत अधिक कमजोरी आ जाती है। पेशाब की मात्रा बढ़ाने वाली दवाईयां भी अधिकतर सेक्स शक्ति को कम कर देती है। परंतु उच्च रक्तचाप में प्रयोग में आने वाली काप्टोप्रिल जैसी दवाईयां सेक्स पावर को आकर्षित नहीं करती है। 

हाई ब्लड प्रेशर कम करने के घरेलू उपाय – High Blood Pressure ka Home remedies,

हाई ब्लड प्रेशर में तरबूज और लिची खाना फयदेमंद है।
1 चम्मच प्याज के रास में 1 चम्मच शुद्ध देसी शहद मिला कर लेने से उच्च रक्तचाप की बीमारी में आराम मिलता है।
शहतूत का शरबत 25 ग्राम मात्रा में सुबह शाम पीने से heart की कमज़ोरी दूर होती है।

गाजर का मुरबा खाना भी फयदेमंद है।
दालचीनी पाउडर का आधा चम्मच रोजाना सुबह गरम पानी के साथ ले। ये दवा ब्लड प्रेशर को control करने का अच्छा घरेलू उपाय है।

रात को सोने से पहले एक गिलास गरम पानी में आधा चम्मच मेथी दाना भिगो कर रखे, सुबह उठ कर पानी पिये और मेथी के दाने चबा कर खाये। इस नुस्खे से उच्च रक्तचाप जल्दी कम होगा।

लौकी का रस सुबह खाली पेट पिये और इसके बाद एक घंटे तक कुछ खाये पिये नहीं। लौकी का रस उच्च रक्तचाप कम करने के साथ दिल को भी health रखेगा और sugar cholesterol जैसी बीमारियो से भी दूर रखेगा।

गिलोय, आँवला, सरपगंधा, आश्कंद और अर्जुन-वृष की छाल को बराबर मात्रा में पीस कर चूरन बना ले और पानी के साथ सुबह शाम ले।

सरपगंधा का चूरन दिन में 2 बार दो – दो ग्राम लेने से हाई ब्लड प्रेशर सामान्य हो जाता है।

एक – एक  ग्राम सूखा धनिया और सरपगंधा दो ग्राम मिश्री में पीस कर पानी के साथ खाने से high bp normal हो जाता है.


लो ब्लड प्रेशर का इलाज केघरेलू नुस्खे
Low blood pressure का सब से आसान और बढ़िया उपाय है नमक वाला पानी। दिन में दो से तीन बार नमक का पानी पिने से आराम मिलता है।

निम्न रक्तचाप की समस्या में गुड़ का सेवन करना उतम है। 1 गिलास पानी में 20 से 25 ग्राम गुड़ थोड़ा सा निम्बू का रास और थोड़ा सा नमक मिला कर पिये। इस gharelu upay को दिन में 2 से 3 बार करने पर सामान्य हो जायेगा।
अनार के रस में थोड़ा नमक डाल कर पिने से जल्दी आराम मिलता है। इसके इलावा गन्ने का रस, अनानास का रस और संतरे का रस भी निम्न रक्तचाप ठीक करने में फायदा करते है।

एक गिलास देसी गाय के दूध में एक चम्मच देसी गाय का घी मिला कर पिने से ठीक हो जाता है।

.
योगा से ब्लड प्रेशर कंट्रोल करे
योगा शरीर में रक्त संचार को सामान्य करने में मदद करता है जिससे heart attack की संभावना कम हो जाती है।

रोजाना प्राणायाम करने और ध्यान लगाने से मानसिक तनाव कम होता है और ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है।
प्राणायाम में अनुलोम – विलोम और योगा में सुखासन और शवसन करे.
loading...
loading...