1 मार्च 2017

loading...

ग्रीन टी पीने का सही समय और तरीका, green tee peene ka sahee samay aur tareeka

अगर पीतें है आप भी ग्रीन टी, तो जानिए क्या है ग्रीन टी पीने का सही समय और तरीका

अगर आप फिटनेस के बारे में सोचते हैं और फिट रहने की कोशिश करते हैं तो आप ग्रीन टी जरूर पीते होंगे। आजकल लोग मोटापा कम करना चाहते हैं, पेट पर जमे हुए फैट को कम करना चाहते हैं इसलिए वह ग्रीन टी पीते है। कई लोग ग्रीन टी ठीक समय पर नहीं पीते या फिर दिन में कई बार पी लेते है।

यदि ग्रीन टी को सही समय पर तथा सही मात्रा में लिया जाए तभी हमें इसके अधिकतम लाभ मिलते हैं। दुनिया भर में की गई खोजों और अध्ययनों से सिद्ध हुआ है कि ग्रीन टी से कई लाभ होते हैं परंतु इसका आवश्यकता से अधिक सेवन करने से स्वास्थ्य पर दुष्परिणाम भी हो सकते हैं। हम आपको बताते है ग्रीन टी पीने के सही तरीके के बारे में…

खाली पेट
अधिकतर लोग का मानना है कि ग्रीन टी को खाली पेट पीना चाहिए क्योंकि इससे हमारा शरीर अंदर से स्वच्छ होता है लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए। ग्रीन टी में कैफीन होता है जो गैस्ट्रिक जूस को पतला कर देता है तथा पेट और प्लीहा को प्रभावित करता है।

सही समय
ग्रीन टी को खाना खाने के आधा घंटा पहले या खाना खाने के 1-2 घंटे बाद पीएं।

दूध या शक्कर
ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंटस और थियानाइन होते हैं जो स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं। लेकिन जब दूध में उपस्थित प्रोटीन और शुगर में उपस्थित कैलोरीज़ ग्रीन टी में उपस्थित फ्लवोनोइडस से मिलते हैं तो नकारात्मक प्रतिक्रिया होती है जिससे शरीर को ग्रीन टी से मिलने वाले लाभ नहीं मिल पाते।

शहद के साथ
ग्रीन टी को शहद के साथ पीना चाहिए। ग्रीन टी में उपस्थित कैफीन तथा शहद में उपस्थित विटामिन्स नयूरोंस को पुनर्जीवित करते हैं तथा शरीर में उपस्थित फैट को बर्न करते हैं। शहद कैलोरीज कम करने में मदद करता है तथा ग्रीन टी चयापचय की दर को बढ़ाती है।

दिन में 2-3 कप
ज्यादातर लोग ग्रीन टी को दिन में केवल 2-3 कप ग्रीन टी पीते है। ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंटस और फ्लवोनोइडस प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। इसका सेवन अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से शरीर में विषारी पदार्थों की मात्रा बढ़ती है तथा आपका लिवर प्रभावित हो सकता है।
loading...
loading...