24 मई 2017

loading...

ज़ख्मों और घावों के आयुर्वेदिक उपचार


 चन्दन की लेई घाव पर लगाने से भी घाव जल्दी ठीक हो जाते हैं।

कच्चे केले का रस घाव पर लगाने से भी घाव जल्दी ठीक हो जाते हैं।

लहसुन का रस और हल्दी तिल के तेल के साथ मिलाकर बनाये हुए मिश्रण से सूजन कम हो जाती है और घाव जल्दी भर जाते हैं।

तिल और नीम के पत्ते एरंडी के तेल के साथ भूनकर और हल्दी और कपूर के साथ पीसकर घरेलू मरहम बनाया जा सकता है। इस मरहम को घाव पर लगाने से घाव जल्दी भर जाते हैं।

नारियल के तेल में कपूर उबाल लें और इसेसूजी हुई जगह पर लगा लें। अगले दिन उसे गरम पानी से धो लें। इससे अंदरूनी चोट के कारण हुई सूजन कम हो जाती है।

संतरे, अंगूर, लहसून, गाजर का सेवन करने से घावों के भरने में सहायता मिलती है।

पिसे हुए पुदीने को एक कपड़े में बांधकर घाव पर रखने से घाव जल्दी भर जाते हैं और संक्रमण का डर भी नहीं रहता।

तुलसी के पत्तों का चूर्ण भुरभुराने सेया बेल के पत्तों को पीसकर लगाने से घावजल्दी भर जाते हैं।


loading...