11 मई 2018

loading...

धातुपौष्टिक चूर्ण Dhatupaushtik Churna Detail and Uses in Hindi मर्दाना ताकत के लिए।


धातुपौष्टिक चूर्ण, एक हर्बल आयुर्वेदिक दवाई है जिसका सेवन शरीर में कमजोरी को दूर करता है और बल तथा धातु की वृद्धि करता है। यह पुरुषों के लिए उत्तम टॉनिक है। धातुपौष्टिक चूर्ण नसों और प्रजनन अंगों को ताकत देता है तथा स्वप्न दोष, असमय वीर्यपात, नपुंसकता erectile dysfunction, वीर्य और शुक्र विकारों को दूर करता है। धातुपौष्टिक चूर्ण में सभी घटक हर्बल हैं। इसमें कौंच बीज, सफ़ेद मूसली, काली मूसली, गोखरू, सालम मिश्री, विदारीकन्द, अश्वगंधा जैसी जानी-मानी औषधिया वनस्पतियाँ हैं। इसके अतिरिक्त इसमें निशोथ है जो की विरेचक है और कब्ज़, गैस, पेट की दिक्कतों को दूर करता है। इसमें मिश्री भी है जो की वज़न बढ़ाने और शरीर में पित्त को कम करती है।

इसके सेवन में यह बात ध्यान रखने योग्य है की यह दवाई पचने में भारी है। इसलिये पाचन की कमजोरी और पेचिश आदि में इसे नहीं खाना चाहिए। इस दवा में विरेचन के गुण भी हैं। यदि दवा के सेवनकाल में कोई समस्या आये तो इसकी लेने की मात्रा को कम कर के देखा जाना चाहिए।

Dhatupaushtik Churna is an herbal medicine for male reproductive system. Its intake cures sexual and sperm disorders. It has aphrodisiac, nutritive, tonic and weight increasing properties. While taking this medicine one should also drink cow\’s milk.

Here is given more about this medicine, such as indication/therapeutic uses, Key Ingredients and dosage in Hindi language.

धातुपौष्टिक चूर्ण के घटक Ingredients of Dhatupaushtik Churna

Each 12 gram: शतावरी, गोखरू बीज, बीजबन्द, बंशलोचन, काबाब-चीनी, चोपचीनी, कौंच बीज, सफ़ेद मूसली, काली मूसली, सोंठ, काली मिर्च, पीपल, सालम मिश्री 50ग्राम, विदारीकन्द, अश्वगंधा, निशोथ 72 ग्राम,

धातुपौष्टिक चूर्ण के लाभ/फ़ायदे Benefits of Dhatupaushtik Churna

यह दवा धातु और बलवर्धक है।
इसके सेवन से शरीर में ताकत आती और कमजोरी दूर होती है।
यह वीर्य और शुक्र विकारो को दूर करती है।
यह नसों को ताकत देती है और नपुंसकता को दूर करती है।
यह कब्ज़ को दूर करती है।
इसमें कामोद्दीपक गुण हैं।
धातुपौष्टिक चूर्ण के चिकित्सीय उपयोग Uses of Dhatupaushtik Churna

दुर्बलता debility
अज्ञात में शुक्रपात spermatorrhoea
अल्पशुक्राणुता Oligospermia
नपुंसकता Impotency
शीघ्रपतन Premature ejaculation
स्वप्न दोष Nightfall
इरेक्टाइल डिसफंक्शन Erectile dysfunction
सेवन विधि और मात्रा Dosage of Dhatupaushtik Churna

३-६ ग्राम दिन में दो बार, सुबह और शाम लें।

🍁☘️🌺🍁☘️🌺🍁🌿🌺
बना बनाया चूर्ण मंगवाने के लिए मैसेज करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

loading...